upagriculture

Up Agriculture, up agriculture registration page, Kisan panjikaran

अगर आप एक किसान हैं और सरकार के द्वारा दी जाने वाली योजनाओं का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको अपना किसान पंजीकरण करना अनिवार्य है । ऐसा करने के लिए सरकार के द्वारा Up Agriculture , upagriculture, up agriculture registration page, kisan registration की शुरुआत की गई हैं । हम आपको UP Agriculture (upagriculture.com) से संबंधित सभी जानकारी देंगे ।

केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा किसानों के लिए बहुत सारी योजनाओं की शुरुआत तो की जाती है लेकिन इन योजनाओं का लाभ ऐसे किसानों को नहीं मिल पाता है जो एक पंजीकृत किसान नहीं है यानी जिन किसान का kisan registration नहीं हुआ है ।

किसानों के लिए सरकार के द्वारा चलाई जाने वाली सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए किसानों का kisan registration होना काफी ज्यादा जरूरी है और kisan registration up agriculture registration page पर जाकर कर सकते हैं।

Advertisement

नीचे हम आपको dbt agriculture Up , Upagriculture, Up Agriculture से संबंधित सभी जानकारी पूरे विस्तार में देने जा रहे हैं ।

क्या आप भी एक उत्तर प्रदेश के किसान हैं , क्या आपको भी dbt agriculture Up , Upagriculture, Up Agriculture पर अपना kisan registration करना है ?

अगर आपका जवाब भी “हां” हैं तो इस आर्टिकल को आगे पढ़ते जाएं ।

Advertisement

DBT AGRICULTURE INDIA , UP Agriculture

भारत सरकार के द्वारा किसानों को लाभ देने के लिए बहुत सारी योजनाएं चलाई जाती हैं और इन योजनाओं का संचालन DBT Agriculture Department की देखरेख में किया जाता है ।

Agriculture department का काम मुख्य रूप से किसानों के खाते में पैसे भेजने का ही होता है लेकिन DBT Agriculture Department website पर kisan registration भी किए जाते हैं जिससे किसान की पहचान हो पाती है ।

Advertisement

up Agriculture department के द्वारा किसानों का पंजीकरण किया जाता है और इन किसानों का ब्यौरा इकट्ठा किया जाता है , ब्यौरा में किसानों से उनकी निजी जानकारी के साथ बैंक अकाउंट से संबंधित जानकारी भी ली जाती है ।

किसानों से बैंक की जानकारी इसलिए ली जाती है ताकि आने वाले समय में किसानों के खाते में स्थानांतरित की जाने वाली राशि Direct benefit transfer (DBT) के माध्यम से सीधे उनके खाते में भेजा जा सके ।

DBT AGRICULTURE INDIA वैसे तो यह केंद्र सरकार की योजना है लेकिन Dbt Agriculture के तहत राज्य सरकार के अलग-अलग DBT Agriculture Portal बनाए जाते हैं ।

Advertisement

जैसे कि बिहार के लिए DBTagriculture Bihar तो उत्तर प्रदेश के लिए DBT Agriculture Uttar Pradesh.

ऐसे ही अलग-अलग राज्यों के लिए DBT Agriculture Portal भी अलग-अलग होते हैं और उनका लिंक और कार्य करने की विधि भी थोड़ी बहुत अलग होती है ।

प्रत्यक्ष लाभ अंतरण कृषि विभाग/dbt agriculture

DBT Agriculture Portal के माध्यम से किसान बहुत सारे काम एक ही जगह से कर सकते हैं ।

Advertisement

Agriculture DBT Portal हर राज्य के लिए अलग-अलग होता है आपको यह ध्यान रखना होगा कि आप किस राज्य से हैं और आपको उसी राज्य के अनुरूप अपने DBT Portal की जानकारी प्राप्त करनी होगी ।

और अगर आप उत्तर प्रदेश की किसान है तो हम आपको आगे Uttar Pradesh Agriculture Department की संपूर्ण जानकारी पूरे विस्तार में देने जा रहे हैं ।

🔥🔥UP Agriculture Farmer Registration Scheme Highlights 🔥🔥

🔥 योजना का नाम यूपी एग्रीकल्चर
🔥 शुरू किया गया कृषि विभाग उत्तर प्रदेश के द्वारा
🔥 लाभार्थी राज्य के सभी किसान
🔥 लाभ किसानों को सरकार के द्वारा शुरू की गई सभी प्रकार की सरकारी योजनाओं का लाभ प्रदान करना ।
🔥 उद्देश्य राज्य का कोई भी किसान सरकारी योजनाओं से वंचित ना रहे ।
🔥 स्टेटस UP Farmer Registration Start
🔥 राज्य केवल उत्तर प्रदेश में लागू
🔥 आधिकारिक वेबसाइट Click Here

UP Agriculture , upagriculture, पारदर्शी किसान सेवा योजना उत्तर प्रदेश सरकार ।

उत्तर प्रदेश के किसानों को सरकार के द्वारा बहुत सारी योजनाओं का लाभ दिया जाता है इन योजनाओं का लाभ देने का काम पारदर्शी किसान सेवा योजना के तहत upagriculture.com की माध्यम से की जाती है ।

Advertisement

पारदर्शी किसान सेवा योजना उत्तर प्रदेश सरकार की सेवाएं ।,UP Agriculture , upagriculture

upagriculture.com की सहायता से उत्तर प्रदेश के किसानों का kisan registration ही नहीं किया जाता है बल्कि उन किसानों को बहुत सारी सेवाएं भी दी जाती हैं ।

किसानों के लिए upagriculture.com के द्वारा दी जाने वाली सेवाएं हैं ।

  1. ➡ किसान पंजीकरण (kisan registration)
  2. ➡ पंजीकरण ग्राफ
  3. ➡ पंजीकरण की रिपोर्ट
  4. ➡ किसान सहायता
  5. ➡ सुझाव एवं शिकायतें
  6. ➡ लाभ वितरण हेतु चयनित कृषक
  7. ➡ अनुदान खेतों में भेजने की प्रगति जाने
  8. ➡ लाभार्थियों की सूची
  9. ➡ अन्य सूचनाएं
  10. ➡ सूखा राहत की प्रगति
  11. ➡ सफलता की कहानी
  12. ➡ पंजीकरण की प्रगति
  13. ➡ कहां किस को क्या लाभ मिला
  14. ➡ महत्वपूर्ण योजनाओं में लाभ वितरण
  15. ➡ कृषिको हेतु सुविधाएं एवं अनुदान
  16. ➡ प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना
  17. ➡ यंत्र पर अनुदान हेतु टोकन निकाले

नोट :- इतने सारे काम हैं जो उत्तर प्रदेश के किसान केवल UP Agriculture,upagriculture की वेबसाइट upagriculture.com की सहायता से मात्र kisan registration करके प्राप्त कर सकते हैं ।

ध्यान दें :- तो अब तक आपने DBT Agriculture India और UP Agriculture से संबंधित जानकारी प्राप्त की |

Advertisement

आगे हम आपको UP Agriculture पर kisan registration कैसे करना है इसकी भी प्रक्रिया बताएंगे ।

हमने आपको ऊपर upagriculture के तहत upagriculture.com के द्वारा उत्तर प्रदेश के किसानों को दी जाने वाली सेवाओं का वर्णन किया है ।

अगर आप उत्तर प्रदेश के अलावा किसी और राज्य से हैं तो दी जाने वाली सेवाएं थोड़ी बहुत अलग भी हो सकती है इसकी जानकारी आप अपने राज्य सरकार के DBT Agriculture Portal पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं।

Advertisement

Uttar Pradesh kisan registration /farmer registration /up agriculture registration page

kisan registration करने से पहले हम आपको UP Agriculture Department के पोर्टल upagriculture.com पर दी जाने वाली सेवाओं की जानकारी विस्तार में देना चाहेंगे और हम आपको यह भी बताना चाहेंगे कि kisan registration करने के बाद आपको क्या लाभ देखने को मिलेगा ।

पंजीकृत किसान होने के फायदे । Benefits Of kisan registration

kisan registration करने के बाद आपको बहुत सारे फायदे मिलते हैं यह फायदे राज्य सरकार और केंद्र सरकार दोनों के द्वारा आपको तभी दिया जाता है जब आपका kisan registration हुआ होता है और आप एक पंजीकृत किसान होते हैं ।

dbt agriculture kisan registration के फायदे निम्नलिखित हैं ।

1. राज्य सरकार को यह पता चल जाता है कि आप एक किसान हैं ।

किसानों तक केंद्र सरकार या राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए यह जरूरी है कि सरकार को पता हो कि कौन किसान हैं और कौन किसान नहीं है ?

Advertisement

अगर आप एक किसान हो तो यह तब ही साबित हो सकता है जब आपका kisan registration हुआ हो ।

2. किसानों तक सीधा लाभ पहुंचाना

पंजीकृत किसान होने के बाद upagriculture.com के माध्यम से किसानों के खाते में जिस योजना के अनुरूप जितनी भी लाभ की राशि होती है Direct benefit transfer DBT के माध्यम से भेज दी जाती है ।

3. आगामी योजनाओं में किसानों को प्राथमिकता

केंद्र सरकार या राज्य सरकार के द्वारा अगर किसी भी योजना की शुरुआत की जाती है तो उसमें प्राथमिकता पंजीकृत किसान को ही दी जाती है ।

Advertisement

4. फसल बर्बादी पर अनुदान के लिए आवेदन ।

अगर किसी कारण से किसानों के फसल बर्बाद हो जाते हैं ,उदाहरण बिन मौसम बरसात या ओलावृष्टि , तो ऐसी स्थिति में भी केवल वही किसान अनुदान पाने के लिए आवेदन कर सकते हैं जो एक पंजीकृत किसान हो ।

5. सुझाव एवं शिकायत

upagriculture.com के माध्यम से किसानों को किसी भी समस्या के ऊपर सुझाव या किसी प्रकार की शिकायत दर्ज कराने का ऑप्शन भी दिया जाता है ।

6. और भी बहुत सारे लाभ हैं जो आपको kisan registration हो जाने के बाद UP Agriculture की आधिकारिक वेबसाइट upagriculture.com के माध्यम से दी जाती है ।

upagriculture किसान पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज | Required Document For kisan registration

जब भी किसान अपना kisan registration करवाने जाएं तो अपने पास निम्नलिखित दस्तावेज जरूर रख ले ।

Advertisement
  1. आधार कार्ड
  2. आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर ( पंजीकरण के वक्त रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाता है )
  3. बैंक खाता का विवरण आईएफएससी कोड इत्यादि (बैंक खाता पासबुक ले जाना ज्यादा सही रहेगा )
  4. किसान की निजी जानकारी और जमीन की जानकारी । (जमीन के दस्तावेज या एलपीसी रसीद की जरूरत हो सकती हैं )

online farmer registration upagriculture.com 81 , up agriculture registration page , किसान पंजीकरण कैसे करें ?

अगर आप उत्तर प्रदेश के किसान हैं और अपने अपनी सभी जानकारी और दस्तावेज तैयार कर ली है तो आप kisan registration के लिए ऑनलाइन आवेदन upagriculture.com 81 की वेबसाइट पर कर सकते हैं ।

kisan registration upagriculture

  • सबसे पहले UP Agriculture की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं ।
  • upagriculture.com 81 पर जाते ही आपके सामने इसका Home page कुछ इस प्रकार से खुलकर आएगा । 👇👇UP Agriculture
  • upagriculture.com होम पेज पर जाएं
  • होमपेज कुछ इस प्रकार से देखने को मिलेगा जिसमें सबसे ऊपर आपको पंजीकरण करे का लिंक दिखाई देगा , जो कुछ इस प्रकार से होगा । 👇👇

UP Agriculture Farmer Registration

  • जैसे ही आप पंजीकरण करें पर क्लिक करते हैं ।
  • आपके सामने किसान पंजीकरण फॉर्म खुलकर आ जाएगा । फॉर्म में आपको अपनी सभी जानकारी दर्ज करनी होगी | 

upagriculture

Advertisement
  • किसान का बैंक अकाउंट की जानकारी भी दर्ज करें ।
  • बैंक अकाउंट की जानकारी मैं आपको अपना बैंक अकाउंट नंबर और आईएफएससी कोड के साथ आधार कार्ड संख्या भी दर्ज करना होगा ।
  • फॉर्म में सभी जानकारी दर्ज करें
  • किसान पंजीकरण फॉर्म में आप से जितनी भी जानकारी पूछी जाती है सभी जानकारी को ध्यान पूर्वक दर्ज करें और सबमिट करने से पहले उसे एक बार चेक जरूर करें ।
  • आवेदन फॉर्म को फाइनल सबमिट करें ।
  • जब आप की जानकारी पूरी तरीके से आवेदन फॉर्म में भर दी जाती है और आवेदन को पुनः वेरीफाई भी कर लिया जाता है तब आप अपने आवेदन फॉर्म को फाइनल सबमिट कर दें ।

नोट :- Final Submit करते ही आपको किसान पंजीकरण के तहत एक रजिस्ट्रेशन नंबर मिल जाता है, इस पंजीकरण संख्या को कहीं सुरक्षित रख ले ।

क्योंकि यही संख्या आपकी पंजीकृत किसान संख्या है और इसी संख्या के बदौलत आपको सरकार के द्वारा दी जाने वाली सभी योजनाओं का लाभ दिया जाएगा ।

नोट :- अब आपका किसान पंजीकरण Agriculture Department India के तहत upagriculture में हो चुका है और अब आपको राज्य सरकार और केंद्र सरकार के द्वारा किसानों के लिए चलाई जाने वाली सभी योजनाओं का लाभ दिया जा सकेगा ।

Advertisement

ध्यान दें :- बहुत सारी केंद्र और राज्य सरकार की ऐसी योजनाएं हैं जिनका लाभ केवल पंजीकृत यानी Registered farmer को ही दिया जाता है इसी वजह से आपका किसान पंजीकरण करना काफी ज्यादा जरूरी है ।

 

up agriculture status

अगर आप अपना Registration UP Agriculture के तहत कर देते हैं और आपको किसी प्रकार के स्टेटस की जानकारी चाहिए तो आप UP Agriculture Status भी ऑनलाइन चेक कर सकते हैं ।

Advertisement

status up agriculture status check

  • ➡ उससे पहले आपको upagriculture की आधिकारिक वेबसाइट upagriculture.com पर जानी होगी ।
  • upagriculture.com पर जाते ही आपको स्थिति जांच करने के बहुत सारे लिंक देखने को मिल जाएंगे ।
  • ➡ आपको यहां पर एक ऑप्शन पंजीकरण की प्रगति देखने को मिलेगा , up agriculture status की जानकारी देखने के लिए पंजीकरण की प्रगति पर क्लिक करें ।
  • ➡ अब यहां पर आप अपनी किसान पंजीकरण संख्या दर्ज कर अपने आवेदन की स्थिति , up agriculture status की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ।
 

कृषि क्षेत्र में उपयोग की जाने वाली उपकरण उनके नाम और संबंधित जानकारी

 
1 शुगर केन प्लांटर / कटर 23
 
2 स्प्रिंग लोडेड 9 टाइन कल्टीवेटर 24
 
3 6 लेवलर 25 5 टाइन कल्टीवेटर
 
4 7 टाइन रिजिड कल्टीवेटर 26 शाबाश प्लाऊ (6)
 
5 ट्रैलिंग हैरो (10 डिस्क हैवी टाइप) 27 पैडी थ्रेसर
 
6 रिजर (3 फरो) 28 ऊसाई पंखा
 
7 पावर थ्रेसर (4पहिया) 29 ब्रास नैपसेक स्प्रेयर
 
8 30 ट्री गार्ड
 
9 रीपर बाइंडर 31 अष्टाकार हैंड मेज शेलर
 
10 मैज थ्रेसर 32 ग्राउंड नट डिकोरटीकेटर
 
11 पैडी रीपर 33 स्ट्रारीपर
 
12 राइस ट्रांस प्लांटर 34 स्ट्राचोपर
 
13 हैरो (6 डिस्क) 35 रोटावेटर
 
14 3 टाइन काल्टीवेटर 36 रोटरी सीडर
 
15 हैरो 8 डिस्क टी.टी. 37 लैन्डलेजर लेवलर
 
16 पावर स्प्रैयर 38 हे रैक
 
17 जीरो टिलेज सीड कम फर्टी ड्रिल 39 हैप्पी सीडर
 
18 बंड फार्मर (ब्लेड टाइप) 40 रिवर्सेबुल प्लाऊ
 
19 सूरजमुखी पावर थ्रेसर 41 बेलर
 
20 42 न्यूमेटिक प्लान्टर
 
21 आटोमेटिक पोटेटो प्लांटर 43 ड्रम सीडर
 
22 मल्टीक्राप थ्रेसर    

UP Agriculture Important Notification / upagriculture महत्वपूर्ण सूचनाएं

महत्वपूर्ण सूचनायें

  • शासनादेश संख्या 553/12-3-2019-100(61)/12 दिनांक 10-05-2019 का पालन करें
  • समस्त भुगतान पारदर्शी किसान योजना के पोर्टल से करने के सम्मबंध मे
  • कृषि विभाग की विभिन योजनाओ में छोटे कृषि यंत्रो तथा कृषि रक्षा उपकरण के अनुदान की डी०बी०टी० के सरलीकरण के सम्बन्ध मे
  • पारदर्शी किसान सेवा योजना के पोर्टल से किसानों को भुगतान के सम्बन्ध मे दिशा निर्देश
  • डी0बी0टी0 हेतु अन्य निर्देशों के साथ पंजीकृत लाभार्थियों का डाटा वैलिडेट करने के सम्बन्ध मे

ऑनलाइन पंजीकरण लाभार्थी चयन तथा अनुदान की डी०बी०टी० सम्बंधित शासनादेश संख्या- 09/12-3-2017-100(61)/12टी०सी० दिनांक 08-01-2018 के सम्बन्ध में

  • डी०बी०टी० सम्बंधित कम्प्रीहेन्सिव शासनादेश संख्या- 1074/12-3-2017-100-100(61)/12टी०सी० दिनांक 26.05.2017 के सम्बन्ध में
  • कृषि विभाग द्वारा संचालित समस्त योजनाओं हेतु ऑनलाइन पंजीकरण लाभार्थी चयन तथा अनुदान के DBT तथा अन्य भुगतानों हेतु प्रक्रिया व दिशा निर्देश के सम्बन्ध में
  • योजना के अन्तर्गत कोई भी भुगतान Paid by me करके न करें

DBT का नया शासनादेश संख्या 543/12-3-2017-100(61)/12 दिनांक 26-05-2017 का पालन करें

  • डी०बी०टी० से सम्बंधित अद्यतन दिशा निर्देश पत्रांक कंप्यूटर- 957 दिनांक- 20-02-2017
  • पंजीकृत कृषकों का अधूरा विवरण पूर्ण करायें
  • बिना अभिलेख के संशोधन न करें
  • सभी वस्तुओं पर डी० बी० टी० अनिवार्य
  • पहलें पंजीकरण कराने वाले को पहले लाभ दें

5 दिन में डी०बी०टी० के बिल कोषागार भेजें (Circular of APC Dt. 25-11-2016)

  • क़षकों को रबी में जिंक सल्‍फेट एवं माइक्रोन्‍यूट्रियन्‍ट पर अनुमन्‍य अनुदान डी0बी0टी0/आर0टी0जी0एस0 के माध्‍यम से उपलब्‍ध कराया जाना
  • रबी 2016 17 में प्रदेश में संचालित विभिन्‍न योजनाओं में वितरित किए जाने वाले संकर बीजों पर अनुदान डायरेक्‍ट बेनीफिट ट्रान्‍सफर (DBT) के अन्‍तर्गत आर0टी0जी0एस0 (RTPS) के माध्‍यम से कृषकों के बैंक खाते में सीधे स्‍थानान्‍तरित किए जाने के सम्‍बन्‍ध में
  • प्रदेश में संचालित विभिन्‍न योजनाओं में वितरित किए जाने वाले प्रमाणित बीजों पर अनुदान डायरेक्‍ट बेनीफिट ट्रान्‍सफर के अन्‍तर्गत आर0टी0जी0एस0 (RTPS) के माध्‍यम से कृषकों के बैक खाते में सीधे स्‍थानान्‍तरित किया जाना

प्रदेश में संचालित विभिन्न योजनाओं में वितरित किए जाने वाले प्रमाणित बीजों पर अनुदान डी0बी0टी0 ( DBT ) के अन्‍तर्गत आर0टी0जी0एस0 (RTPS) के माध्‍यम से कृषकों के बैंक खातें में सीधे स्थातनान्ततरित किए जाने के निर्देश

  • NeGP-A योजना अंतर्गत केबिन तैयार कराने हेतु Model आगणन |
  • क्रेन्‍द्र की सभी योजनाओं में डी0बी0टी0 (DBT) अनिवार्य
  • पारदर्शी किसान सेवा योजना तथा डी०बी०टी० (DBT) के प्रक्रिया के क्रियान्वयन के सम्बन्ध में आवश्यक निर्देश दिनाक 15/07/2016
  • कृषक प्रशिक्षण हेतु पंजीकरण अनिवार्य
  • किसान भाई अपनी फसल मे कीट/रोग समस्या के निदान हेतु कृषि विभाग मे अपना पंजीकरण नम्बर अथवा अपना नाम , ग्राम का नाम, विकास खण्ड, जनपद का नाम लिखते हुए मो0 न0 9452247111 एवं 9452257111 पर SMS/WhatsApp भेजे |

संकर बीजों पर अनुदान डी0बी0टी0 के अन्तेर्गत आर0टी0जी0एस0 के माध्यम से वर्ष 2016-17 में सीधे कृषकों के बैंक खातों में स्थातनान्ततरित किए जाने के निर्देश

  • ऑनलाइन पंजीकरण हेतु ए0टी0एम0 (ATM), बी0टी0एम0 (BTM) को प्रोत्साहन
  • DBT पर बज रहा उत्तर प्रदेश का डंका
  • Implementation of DBT(Direct Benefit Scheme)-linking of AGRISNET
  • उत्तर प्रदेश के आधार पर देश के अन्य राज्यों को डी0बी0टी0 (DBT )करने के G.O.I. के निर्देश
  • बिना प्रमाण के रकबा न बदलें बिक्री के बाद किसानों को रसीद अवश्य दें दिनांक ३०-११-२०१५
  • उप कृषि निदेशक तथा जिला कृषि अधिकारी को बजट आवंटन दिनांक 19 नवंबर 2015
  • DBT प्रक्रिया/आवश्यक दिशा निर्देश
  • रबी बीज अनुदान का DBT जनपद स्तर से होगी
  • पूरे दाम पर भी बीज लेने के लिए पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा ।

  In a first, UP govt links seed subsidy to Direct Benefit Transfer scheme

  • राजकीय बीज भण्डार पर पंजीकरण कर्मी हेतु भर्ती सेवा प्रदाता के कर्मी के रूप में
  • किसानों के खाते में ट्रांसफर होगी सब्सिडी
  • सीधे किसानों के खातों में जाएगा बीज वितरण का अनुदान
  • कृषि विभाग के सहयोग से किसान होंगे सशक्त

पारदर्शी किसान सेवा योजना मैं कंप्यूटर UPS और प्रिंटर का आबंटन

  • पंजीकरण फॉर्म का प्रारूप
  • योजनायों के ऑन लाइन मानिटरिंग हेतु महत्वपूर्ण निर्देश
  • कृषि योजनाओं मे लाभ के लिए पंजीकरण कराना हुआ अनिवार्य
  • किसानों के लिए ऑनलाइन पंजीकरण हुआ जरूरी
  • पारदर्शी किसान सेवा योजना में पंजीकरण करवाकर किसान लाभ उठायें
  • जुगाड़ वाले किसान अब हर बार नहीं ले पाएंगे लाभ
  • कृषि योजनाओं का लाभ अब सीधे खाते में
Kisan Registration 
Hindi English
फसल का नाम: गेहूँ
विपणन वर्ष: 2020-21
किसान पंजीकरण हेतु महत्वपूर्ण जानकारी :- 

  • किसान पंजीकरण हेतु आवेदन ( upagriculture.com )
  • करने के लिए उपरोक्त स्टेप 1 से स्टेप 6 तक पालन करना अनिवार्य है ।
  • कृपया ऑनलाइन किसान पंजीकरण करने से पूर्व “स्टेप 1. पंजीकरण प्रारूप” डाउनलोड करके प्रिंट कर लें एवं प्रिंट किये गए प्रारूप की जांच करके आवश्यक सूचनाएं भर लें।
  • किसान पंजीकरण में फसल (गेहूँ) हेतु उपयोग की जाने वाली सभी भूमियों का विवरण देना अनिवार्य है ।
  • भूमि विवरण के साथ खतौनी/खाता संख्या, प्लाट/खसरा संख्या, भूमि का रकबा (हेक्टेयर में) एवं फसल (गेहूँ) का रकबा (हेक्टेयर में) भरना अनिवार्य है ।
  • आधार कार्ड , बैंक पास बुक व राजस्व अभिलेखों का सही विवरण दर्ज करें ।
  • “स्टेप 1. पंजीकरण प्रारूप” भरने के पश्चात “स्टेप 2. पंजीकरण पपत्र” के विकल्प से ऑनलाइन आवेदन दर्ज कर लें ।
  • ऑनलाइन आवेदन दर्ज होने पर “पंजीकरण संख्या” नोट कर लें एवं “स्टेप 3. पंजीकरण ड्राफ्ट” से ड्राफ्ट आवेदन पत्र प्रिंट कर लें ।
  • पंजीकरण ड्राफ्ट में दर्ज सभी बिन्दुओं का पुनः निरीक्षण कर लें । मोबाइल संख्या देकर पंजीकरण ड्राफ्ट पुनः प्रिंट किया जा सकता है ।
  • आवेदन में दर्ज सभी बिन्दुओं का निरीक्षण करने के पश्चात यदि किसी संशोधन की आवश्यकता है तो “स्टेप 4. पंजीकरण संशोधन” से मोबाइल संख्या देकर आवेदन में संशोधन किया जा सकता है ।
  • यदि आवेदन का निरीक्षण करने के बाद कोई त्रुटी नहीं पाई जाती है तो “स्टेप 5. पंजीकरण लॉक” के विकल्प से आवेदन लॉक कर दें । आवेदन लॉक हो जाने के पश्चात उसमें कोई संशोधन किसी भी स्तर से सम्भव नहीं होगा ।
  • आवेदन लॉक हो जाने के पश्चात “स्टेप 6. पंजीकरण फाइनल प्रिंट” के विकल्प से आवेदन का फाइनल प्रिंट ले कर सुरक्षित रख लें ।
  • जब तक आवेदन लॉक नहीं किया जाता है , किसान पंजीकरण स्वीकार नहीं किया जायेगा ।
  • इस वर्ष ओ ० टी ० पी ० (O.T.P) आधारित पंजीकरण की व्यवस्था की गयी है , जिसके लिए किसान बन्धु पंजीकरण के समय अपना वर्तमान मोबाइल न ० ही अंकित कराये एस ० एम ० एस ० द्वारा प्रेषित ओ ० टी ० पी ० (O.T.P) को भरकर पंजीकरण प्रकिया को पूरा किया जा सकें ।
  • 100 कुन्टल से अधिक विक्रय हेतु उपजिलाधिकारी से ऑनलाइन सत्यापन कराया जायेगा । चकबन्दी के ग्रामों में बेचीं जाने वाली मात्रा का शत प्रतिशत सत्यापन कराया जायगा ।
  • किसान अपने खतौनी में दर्ज नाम का पंजीकरण में सही -सही दर्ज कराये , खतौनी में उल्लेखित (बाये तरफ ) समस्त नामो में अपना नाम चुने जाने के विकल्प उन्हें ऑनलाइन ड्राप डाउन में उपल्ध रहेगा । नाम से भिन्नता की स्थिति में उपजिलाधिकारी द्वारा ऑनलाइन सत्यापन किया जायेगा ।
  • किसान अपना आधार संख्या , आधार कार्ड में अंकित अपना नाम तथा लिंग सही-सही अंकित करें ।
  • किसान अपना बैंक खाता सी ० बी ० एस ० खाता खुलवाये तथा बैंक खाता व आई ० एफ ० एस ० सी ० कोड भरने में विशेष सावधानी रखे ।
  • पी ० एफ ० एम ० एस० के माध्यम से त्वरित भुगतान सुनिश्चित हो सके , इस के लिए किसानो से अपील है कि अपने एकल बैंक खाते का न ० ही पंजीकरण के समय दें ।
  • जो कृषक खरीफ विपणन वर्ष 2019 -20 में धान खरीद हेतु पंजीकरण करा चुके है , उन्हे गेहूं विक्रय हेतु पुनः पंजीकरण कराने की आवश्यता नहीं है , संशोधन कर या बिना संशोधन के पुनः लॉक कराना होगा ।
  • गेहूं विक्रय के समय पंजीयन प्रपत्र के साथ कम्प्यूटराइज़्ड खतौनी , फोटोयुक्त पहचान पत्र , बैंक के पासबुक के प्रथम पृष्ठ के छायाप्रति एंव आधार कार्ड साथ लाये ।
  • गेहूं विक्रय के समय किसान अपने पंजीकरण प्रपत्र अवश्य लेकर आये । पंजीकरण प्रपत्र में यह देख ले कि उनके विक्रय की मात्रा 100 कुन्टल से अधिक होने पर , नाम का मिसमैच होने पर अथवा चकबंदी ग्राम होने पर उक्त जिलाधिकारी से सत्यापन हो गया । साथ ही पंजीकरण में पी ० एफ ० एम ० एस० से बैंक खाता सत्यापित हो गया है ।
  • गेहूं विक्रय के उपरान्त केन्द्र प्रभारी से पावती पत्र अवश्य प्राप्त कर ले ।
Crop Name: Wheat
Marketing Year: 2020-21
Important information for farmer registration: – 

Advertisement
  • It is mandatory to follow step 1 to step 6 above to apply for farmer registration.
  • Please download and print “Step 1. Registration Form” before online farmer registration and fill the required information by checking the printed format.
  • In the farmer registration, it is mandatory to give details of all the land used for the crop (wheat).
  • It is mandatory to fill the Khatauni / account number, plot / Khasra number, land area (in hectare) and crop (wheat) acreage (in hectare) along with the land details.
  • Enter the correct details of Aadhaar card, bank pass book and revenue records.
  • After filling the “Step 1. Registration Form”, enter the online application with the option of “Step 2. Registration Form”.
  • On filing the online application, note the “Registration Number” and print the draft application form from “Step 3. Registration Draft”. up agriculture registration
  • Re-inspect all the points recorded in the registration draft. Registration draft can be reprinted by giving mobile number.
  • After inspection of all the points recorded in the application, if any amendment is required, the application can be amended by giving a mobile number from “Step 4. Registration Amendment”. up agriculture registration
  • If no error is found after inspecting the application, then lock the application with the option of “Step 5. Registration lock”. After the application is locked, no modification in it will be possible at any stage.
  • After the application is locked, take the final print of the application and secure it with the option of “Step 6. Registration Final Print”.up agriculture registration 
  • Till the application is not locked, Kisan registration will not be accepted.up agriculture registration
  • This year, an OTP based registration has been arranged, for which the farmer should register his current mobile number at the time of registration; OTP sent by SMS (OTP) ) To complete the registration process.
  • For the sale of more than 100 quintals, online verification will be done by the Deputy Collector. 100% verification of quantity sold in consolidation villages will be done.up agriculture registration
  • Farmers should register their name correctly in their Khatauni, right in the registration, the option to select their name in all the names mentioned in the Khatauni (on the left) will be available in the online drop down. In case of difference in name, online verification will be done by the Deputy Collector.
  • The farmer should correctly mention his Aadhaar number, his name and gender mentioned in the Aadhar card.
  • Farmers should open their bank account CBS account and take special care in filling the bank account and IFSC code. up agriculture registration
  • To ensure prompt payment through PPMS, it is an appeal to the farmers not to give their single bank account at the time of registration.
  • Farmers who have registered for paddy purchase in Kharif marketing year 2019-20, do not need to re-register for sale of wheat, need to be re-locked by amendment or without modification.
  • Computerized Khatauni, photo identity card, photocopy of first page of bank passbook and Aadhaar card should be brought along with registration form at the time of sale of wheat.
  • Farmers must bring their registration forms at the time of selling wheat. In the registration form, it should be seen that if their sales volume is more than 100 quintals, there is a mismatch of the name or in the consolidation village, verification with the said District Magistrate. Along with this, the bank account has been verified in registration from PPMS.
  • After selling the wheat, you must obtain an acknowledgment letter from the center in-charge.

UP Agriculture Contact /upagriculture.com Contact Number

पंजीकरण तथा DBT हेल्प लाइन नम्बर:
7235090578, 7235090574(कार्य दिवस में)
6392175756 (भूमि संरक्षण से सम्बंधित)
Email- dbt.validation@gmail.com
Email- kdsupdbt@gmail.com(भूमि संरक्षण से सम्बंधित)

नोट :- आज के इस आर्टिकल में आपने जाना
up agriculture, upagriculture , kisan registration,up agriculture registration 2020,upagriculture.com, up agriculture status, up agriculture registration page, up agriculture pm Kisan

Advertisement